भारत सरकार स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण विभाग
स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय - भारत सरकार
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
समाचार और प्रमुख विशेषताएं
राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन मेडिकल कॉलेजों के लिए चिकित्‍सा शिक्षा ऑनलाइन अनुमोदन प्रणाली एचएमआईएस एनआरएचएम स्‍वास्‍थ्‍य सांख्यिकी  सूचना पोर्टल केन्‍द्रीय सरकार स्‍वास्‍थ्‍य योजना रिक्तियां मीडिया  गैलरी अस्‍पताल में बुक ऑनलाइन नियुक्‍तियां

संक्षिप्‍त इतिहास

वापस जाएं

प्रारंभ में स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय में चार विभाग थे, जिनके प्रत्‍येक के अध्‍यक्ष भारत सरकार के सचिव थे:-

 

 दिनांक 7 अगस्‍त, 2014 की असाधारण राजपत्र अधिसूचना भाग-।। खंड-3 उप-खंड (ii) द्वारा एड्स नियंत्रण विभाग का स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण में विलय कर दिया गया है तथा अब यह राष्‍ट्रीय एडस नियंत्रण संगठन (नाको) के नाम से जाना जाएगा। मंत्रिमंडल सचिवालय की दिनांक 8 दिसंबर, 2014 की अधिसूचना सं. 1/21/35/2014–मंत्रि. द्वारा कार्य आबंटन नियम में किए गए संशोधन के अनुसार आयुष विभाग को आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्‍सा, यूनानी, सिद्ध तथा होम्‍योपैथी मंत्रालय (आयुष) बनाया गया है जिसके अंतर्गत आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्‍सा, यूनानी, सिद्ध और होम्‍योपैथी प्रणाली की शिक्षा और अनुसंधान का विकास करने पर विशेष बल दिया जाएगा। इस प्रकार, अब स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय के निम्‍नलिखित दो विभाग होंगे, और प्रत्‍येक के अध्‍यक्ष भारत सरकार के सचिव होंगे।

 

 स्‍वास्‍थ्‍य सेवा महानिदेशालय (डीजीएचएस) स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय का एक संबद्ध कार्यालय है और इसके अधीनस्‍थ कार्यालय पूरे देश में स्‍थित हैं। डीजीएचएस सभी चिकित्‍सा और जन स्‍वास्‍थ्‍य मामलों पर तकनीकी सलाह प्रदान करता है और यह विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं का कार्यान्‍वयन करता है।